[Top 101] chanakya Niti (हिंदी ) – inspirational quotes images

list of Top 101 chanakya Niti

जैसे ही भय आपके करीब आये, उस पर आक्रमण कर उसे नष्ट कर दीजिये|
chanakya niti in hindi
कोई काम शुरू करने से पहले, स्वयं से तीन प्रश्न कीजिये – मैं ये क्यों कर रहा हूँ, इसके परिणाम क्या हो सकते हैं और क्या मैं सफल होऊंगा. और जब गहराई से सोचने पर इन प्रश्नों के संतोषजनक उत्तर मिल जायें, तभी आगे बढिए|

chanakya niti in hindi

व्यक्ति अकेले पैदा होता है और अकेले मर जाता है; और वो अपने अच्छे और बुरे कर्मों का फल खुद ही भुगतता है; और वह अकेले ही नर्क या स्वर्ग जाता है|

chanakya niti in hindi

भगवान मूर्तियों में नहीं है. आपकी अनुभूति आपका इश्वर है, आत्मा आपका मंदिर है|

chanakya niti in hindi

अगर सांप जहरीला ना भी हो तो उसे खुद को जहरीला दिखाना चाहिए|

chanakya niti in hindi

शिक्षा सबसे अच्छी मित्र है।

chanakya niti in hindi

शास्त्र का ज्ञान आलसी को नहीं हो सकता।

chanakya niti in hindi

एक शिक्षित व्यक्ति हर जगह सम्मान पता है।

chanakya niti in hindi

रोग शत्रु से भी बड़ा है।

chanakya niti in hindi

आवश्यकतानुसार कम भोजन करना ही स्वास्थ्य प्रदान करता है।

अज्ञानी के लिए किताबें और अंधे के लिए दर्पण एक समान उपयोगी है।

दुनिया की सबसे बड़ी ताकत पुरुष का विवेक और महिला की सुन्दरता है।

कपटी मित्र पर कभी विश्वास ना करें।

अच्छे मित्र पर भी अंधविश्वास ठीक नहीं। क्यूंकि यदि ऐसे लोग आपसे रुष्ट होते हैं, तो आपके सभी रहस्य खोल देंगे।

कार्य के लक्षण ही सफलता-असफलता के संकेत दे देते है।

नीच और उत्तम कुल के बीच में विवाह संबंध नहीं होने चाहिए।

धनवान व्यक्ति का सारा संसार सम्मान करता है।

हमें भूत के बारे में पछतावा नहीं करना चाहिए, ना ही भविष्य के बारे में चिंतित होना चाहिए। विवेकवान व्यक्ति सदैव वर्तमान में जीते हैं।

दुष्ट पत्नी, झूठा मित्र, बदमाश नौकर और सर्प के साथ निवास साक्षात् मृत्यु के समान है।

भविष्य में आने वाली मुसीबतो के लिए धन एकत्रित करें। ऐसा ना सोचें की धनवान व्यक्ति को मुसीबत कैसी? जब धन साथ छोड़ता है तो संगठित धन भी तेजी से घटने लगता है।

जिस देश में आदर नहीं, जीने के साधन नहीं, विद्या प्राप्त करने के स्थान नहीं , वहां पर रहने का कोई लाभ नहीं|

शक्तिशाली शत्रु और कमजोर मित्र हमेशा ही नुकसान देते हैं|

मित्रता उस स्थान के लोगों से की जानी चाहिए जहां पर शर्म, चतुरता, त्याग जैसी आदतें अवश्य हो|

पत्नी जैसी भी हो ,धन जितना भी हो ,भोजन कैसा भी हो ,यह सब यदि समय पर मिल जाए तो सबसे अच्छा है|

इस संसार में कोई ऐसा प्राणी नहीं है जिसमें कोई दोष न हो|

शिक्षा, यदि किसी घटिया प्राणी से भी मिले तो लेने में संकोच नहीं करना चाहिए|

जब विनाश के दिन आते हैं तो बुद्धि भ्रष्ट हो जाती|

दुश्मन के साथ धोखा करने से धन का नाश होता है और ब्राह्मण के साथ धोखा करने से कुल का नाश होता है|

मुर्ख लोगो से वाद-विवाद नहीं करना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से हम अपना ही समय नष्ट करते है|

अगर सांप जहरीला नहीं है, तो भी उसे विषैला होने का दिखावा करना चाहिए।

मूर्ख के लिए किताबें ऐसी है जैसे अंधों के लिए शीशा|

आलसी मनुष्य का वर्तमान और भविष्य नही होता|

भाग्य उनका साथ देता है जो कठिन परिस्थितयो का सामना करके भी अपने लक्ष्य के प्रति ढृढ रहते है|

कोई भी व्यक्ति ऊँचे स्थान पर बैठकर ऊँचा नहीं हो जाता बल्कि हमेशा अपने गुणों से ऊँचा होता है|

बुद्धि से पैसा कमाया जा सकता है,पैसे से बुद्धि नहीं|

समय ही इंसान को बनाता और बर्बाद करता है|

जो प्राणी मन से अपना काम करते हैं वे सदा सुखी रहते हैं|

आपसे दूर रह कर भी दूर नही है और वही जो आपके मन मे नही है वह आपके नजदीक रहकर भी दूर है|

Leave a Comment