Love Quotes Hindi

#1. Love Quotes Hindi

एक और शख़्स छोड कर चला गया तो क्या हुआ
हमारे साथ कौन सा ये पहली मरतबा हुआ है
~ तहज़ीब हाफी

1. love quotes hindi

#2. Love Quotes Hindi

तन्हां हम भी, तुम भी तन्हा…
और देखो सूरज तन्हां जल रहा है…
सितारों के साथ है फिर भी
चाँद को देखो फिर भी तन्हा…!
~सत्यव्रत

2. love quote hindi

अभी तो मोहब्बत पढ़ी थी…

ज़रा मशहूर होने दे…

love quotes in hindi

इस शाम गुज़र रहा वो मेरे शहर से…
जिसके बिना मेरा कोई सहर नहीं होता।
इत्तला भी ना किया मेरे शहर को…
जिसने अपने शहर का सहर नहीं देखा…
~सत्यव्रत

love quotes

5. इक लफ़्ज़-ए-मोहब्बत का अदना ये फ़साना है

सिमटे तो दिल-ए-आशिक़ फैले तो ज़माना है

—जिगर मुरादाबादी

love quotes

6. दिल की तकलीफ़ कम नहीं करते

अब कोई शिकवा हम नहीं करते

जान-ए-जाँ तुझ को अब तिरी ख़ातिर

याद हम कोई दम नहीं करते

दूसरी हार की हवस है सो हम

सर-ए-तस्लीम ख़म नहीं करते

7. राख के ढेर पे क्या शो’ला-बयानी करते

एक क़िस्से की भला कितनी कहानी करते…

#इरफ़ान_सत्तार

8. कभी नदी….कभी सहरा….तलाश करता है

वो अपनी प्यास का चेहरा तलाश करता है

~सुनील आफ़ताब

9. लोग….अक्सर मुकर भी जाते हैं
आज़मा कर ये दिल दिया कीजे
~आज़िम कोहली

10. मैं एक ठहरा हुआ पुल, तू बहता दरिया है

तुझे मिलूँगा तो फिर टूट कर मिलूँगा मैं

– सुब्हान असद

11.मेरी नाक़ाम मोहब्बत तुझसे और नफ़रत हो गई….

तूने उसे भी रुलाया जिसे मैं इश्क़ करता हूँ…
~सत्यव्रत

Love Quotes Hindi

12. रात आ कर गुज़र भी जाती है
इक हमारी सहर नहीं होती
~ इब्न-ए-इंशा

13. वो तो ज्ञानी हैं, उन्हें बस बात काटनी है,
मैं तो जुगनू हूं, मुझे स्यहा रात काटनी है
~कुमार विश्वास

14. ज़िंदा रहने का तसव्वुर भी ख़याली हो गया,

इक तेरे जाने से सारा शहर खाली ओ गया….
~डॉ राहत इंदौरी

15. तेरा चुप रहना मेरे ज़हन में क्या बैठ गया

इतनी आवाज़ें तुझे दीं कि गला बैठ गया”
~ तहज़ीब हाफी

16. वो नींद जिसमे ख़्वाब भी दाख़िल नहीं होते

इक रोज़  वही  नींद  मैं  सो कर  दिखाऊँगा

ऐ  आसमाँ  मैं  पी  रहा  हूँ ज़हर  इश्क़  का

तुझसे  ज़्यादा  नीला  मैं  हो  के  दिखाऊँगा

~ मनोज मुन्तशिर

17. सियासी चाल चल रही है मोहब्बत भी…

मिलती भी नहीं और मुझे बदनाम करती है…!

-सत्यव्रत

18. मेहरबाँ हो के बुला लो मुझे चाहो जिस वक़्त

मैं गया वक़्त नहीं हूँ कि फिर आ भी न सकूँ

~मिर्ज़ा ग़ालिब

19. बिछड़ के तुझ से किसी दूसरे पे मरना है

ये तजरबा भी इसी ज़िंदगी में करना है…
हवा दरख़्तों से कहती है दुख के लहजे में

अभी मुझे कई सहराओं से गुज़रना है…

#असअद_बदायुनी

20. तन्हां हम भी, तुम भी तन्हा…

और देखो सूरज तन्हां जल रहा है…

सितारों के साथ है फिर भी

चाँद को देखो फिर भी तन्हा…!
~सत्यव्रत